How to write seo friendly article in hindi 2020 SEO फ्रेंडली आर्टिकल लिखने के तरीके

दोस्तों आपको अभी लग रहा होगा कि Seo friendly article लिखना बहुत ही मुश्किल है (how to write seo friendly article 2020) लेकिन इस article को पढ़ने के बाद seo friendly article लिखना आप के बाएं हाथ का खेल होने वाला है

How to write seo friendly article

आपको Seo friendly article लिखने के लिए सिर्फ अपने लिखने के तरीके में थोड़ा बदलाव लाना पड़ेगा और साथ ही आपको कुछ नियमों को फॉलो करना है जो मैं आपको नीचे बताने वाला हूं तो चलिए शुरू करते हैं how to write seo friendly article

Seo friendly article लिखने के लिए सबसे जरूरी जो होता है वह है keyword research, आप जिस भी niche पर काम करते हो , तो जब आप अपनी website पर article लिखते हो तो सबसे पहले आपको अपने niche से रिलेटेड keyword research करना है

मैं article लिखने के लिए एक तरीका अपनाता हु और वो यह है जी मुझे जिस भी टॉपिक पर article लिखना होता है मैं उस टॉपिक को एक बार google में search करता हूं और google में search करने पर जो गूगल के नीचे relted search आते हैं जैसे आप नीचे फोटो देख सकते हो मैं इन टॉपिक पर article लिखता हूं

How to write seo friendly article

अब मैं आपको seo friendly article लिखने के वह सभी धमाकेदार सीक्रेट बताता हूं How to write seo friendly article 2020

SEO फ्रेंडली पोस्ट लिखने के लिए जाने यह तरीके

(1) title.

आपको अपने ब्लॉग के लिए keyword research करने के बाद अपनेे ब्लॉग की शुरुआत एक अच्छे title से करनी है जैसे उदाहरण के लिए 2020 में ऑनलाइन पैसा कमाने के सात धमाकेदार तरीके? या How to write seo friendly article in hindi

आप अपने blog के लिए ऐसा title बनाएं क्योंकि जब आप एक attractive title बनाते हो तो लोग अपने आप पर कंट्रोल नहीं रख पाते हैं और आप का title देखकर उसके ऊपर क्लिक कर देते हैं और इससे आपकी site का traffic कई गुना बढ़ जाता है

आप अपने blog का अच्छा title बनाने के लिए google पर search कर सकते हो blog title generator और जो पहला रिजल्ट आपके सामने आता है आपको उसके ऊपर क्लिक करना है इसके बाद आपको इसमें अपना keyword डालना है जिस keyword का title आप generator करना चाहते हो और जैसे ही आप इसमें अपना keyword डालते हो तो यह आपको अच्छे-अच्छे blog title generator करके दिखा देगा और इसमें से आपको जो title अच्छा लगे आप उसके ऊपर अपना blog बना सकते हो

(2)introduction. जरूर लिखें

एक अच्छा keyword और title generate करने के बाद जब आप अपने blog को लिखना शुरू करते हो तो आपको उसमें यह बताना है कि आप इस संपूर्ण ब्लॉग पोस्ट में उन्हें क्या बताना चाहते हो

कौन-कौन से ऐसे तरीके और सीक्रेट है जो आप अपने ब्लॉग में उन्हें बताने वाले हो इन सभी के बारे में थोड़ा बहुत बताने के बाद आपको अपनी ब्लॉग पोस्ट की शुरुआत करनी है और जानकारी देना शुरू करना है

  • जब भी आप शुरुआत में अपना और अपने ब्लॉग का introduction देते हो तो आपको इसमें वह keyword भी add करना है जिसके ऊपर आप यह पूरा ब्लॉग लिखने वाले हो

(3) Bold ya highlight.

आप अपनी ब्लॉग मे जितने भी शब्द लिखते हो तो उन शब्दों में आपने जिस भी keyword पर ब्लॉग लिखा है उसे बार-बार हर पैराग्राफ में bold करते रहे जैसे कि मैंने कर रखा है आप कोई इंपॉर्टेंट शब्द जो सामने वाले को दिखाना चाहते हो उसेे भी bold कर दे क्योंकि इससे यूजर का आर्टिकल पढ़ने में इंटरेस्ट ज्यादा बढ़ता है

  • आप जब कोई भी पैराग्राफ लिखते हो तो उसकी फर्स्ट लाइन को highlight कर दीजिए
  • जिस भी keyword को टारगेट करके चल रहे हो उसे बार-बार अपने संपूर्ण ब्लॉग मे highlight करते रहे

(4) Heading.

इन सभी के बाद जो सबसेे महत्वपूर्ण बात आती है वह यह है Subheading?

आपका जो second पैराग्राफ होता है और आपको उस कीवर्ड को subheading में डालना होता है और subheading को आपको h2(heading second) में डालना पड़ता है, अब आपका यह सवाल हो सकता है की subheading को h2(heading second) में ही क्यों डालना पड़ता है

तो मैं आपको बता दूं , की जो h1(heading farst) होती है वह title में सम्मिलित होती हैं जिसके कारण आपको subheading को h2(heading second) में ही डालना पड़ता है

यह कोई ज्यादा बड़ी सोचने की बात नहीं है आप सिर्फ h1, h2 , h3 heading को अपने ब्लॉग में टेक्निकल नंबर के रूप में देते हो

(5) Add Video.

अगर आप एक ब्लॉगर के साथ एक यूट्यूबर भी है तो आप अपनी ब्लॉग पोस्ट में एक वीडियो भी डालिए, लेकिन हां एक बात का ध्यान रखें की वीडियो ऐसा वैसा नहींं होना चाहिए इसका मतलब यह है कि आप जो कॉन्टेंट अपनेेे ब्लॉग में लिख रहे हो उसी से रिलेटेड वीडियो होना चाहिए आप कोई भी वीडियो उठाकर अपने ब्लॉग में ना डालें

वीडियो डालने से आपको फायदा यह होता है कि जब कोई भी यूजर उस वीडियो को आपके ब्लॉग पर देखता है जिसके कारण वह आपके ब्लॉग पर ज्यादा देर तक ठहरता है और इससे google की नजरों में आपकी साइट के प्रति अच्छी छवि बनती है और इससे गूगल आपकी site को रैंक करने में मदद करता है

(6) Internal Linking.

यदि आप Internal Linking का मतलब नहीं जानते हो तो मैं आपको यह बता देना चाहता हूंं कि आप कोई ब्लॉग पोस्ट लिखतेे हो तो उस ब्लॉग में कोई ऐसा keyword या कोई ऐसी लाइन आ रही होती है जिसके बारे में आपने पहले से ही एक विस्तार से ब्लॉग लिख रखा है तो आपको उस ब्लॉग के लिंक को कॉपी करके उन शब्दों में या लाइन में add करना है जो से रिलेटेड हो

जैसे कि इस ब्लॉग के पहले पैराग्राफ में यह लाइन आई की कीवर्ड रिसर्च कैसे करें और इस साइट में फ्री में कीवर्ड रिसर्च कैसे करें के ऊपर पहले से ही एक संपूर्ण आर्टिकल था तो मैंने उस आर्टिकल का लिंक कॉपी करके वहां पर internal कर दिया जिसके कारण कोई भी यूजर यदि फ्री में कीवर्ड रिसर्च करना चाहता हूं तो वह उस लाइन या शब्द पर क्लिक करके संपूर्ण ब्लॉग पोस्ट को पढ़ सकता है

Internal linking करने के फायदे…………

  • Internal linking करने से यूज़र आपकी साइट पर ज्यादा देर तक रहता हैं
  • साथ ही Internal linking करने पर आपकी साइट का ट्रैफिक भी बढ़ता है
  • और Internal linking से आपकी साइट की Bounce rate कम होती है जो कि साइट की हेल्थ के बहुत अच्छा है और Bounce rate का बढ़ना साइट के लिए नेगेटिव असर डालता है
  • Bounce rate का गटना साइट के लिए पोजीटिव असर डालता है

(7) External.

आपको अपने ब्लॉग में external linking भी करना बहुत जरूरी है वह भी किसी हाई अथॉरिटी वेबसाइट के साथ जैसे उदाहरण के लिए विकीपीडिया आदि आप अपनी ब्लॉग पोस्ट में किसी भी कम अथॉरिटी वाली साइट का external linking ना करें

(8) use keyword.

यह हर किसी का सवाल होता है कि हम हमारी पोस्ट में main keyword का कितनी बार इस्तेमाल करना चाहिए चलिए मैंं आपको बताता हूं

आपको अपनी ब्लॉग पोस्ट में main keyword का 0.5% उपयोग करना चाहिए यानी अगर मैं आपको आसान शब्दों में समझाऊं तो 200 शब्द लिखने पर आपको एक बार अपने main keyword का इस्तेमाल करना है

Top 10 keywords searching tool

यदि आप अपनी साइट में 1000 शब्दों का ब्लॉग लिखते हो तो आप उस संपूर्ण ब्लॉक में 5 बार अपने main keyword का इस्तेमाल कर सकते हो

  • अपनी ब्लॉग पोस्ट में जाना कि बढ़ता इस्तेमाल ना करें
  • यदि आपने अपने ब्लॉक पोस्ट की कैपेसिटी से ज्यादा कीवर्ड का इस्तेमाल किया तो आपको रैंक होने में परेशानी हो सकती है क्योंकि ज्यादा कीवर्ड का इस्तेमाल करने के कारण गूगल आपकी साइट को penalize( दंडित ) कर देगा
(9) Category.

आप जब भी कोई ब्लॉग पोस्ट बनााते हो तो उस ब्लॉग पोस्ट को उस से रिलेटेड केटेगरी में जोड़ना ना भूले

  • हमेशा अपनी पोस्ट को कैटेगरी में जरूर डालें
  • कैटेगरी को हल्के में लेने की कोशिश ना करें

(10) Parmar Link. का ध्यान रखें

आप अपनी ब्लॉग पोस्ट के परमार लिंक को हमेशा एडिट करें और उसमें अपने main keyword जिसको आपने title , फर्स्ट पैराग्राफ और दूसरे पैराग्राफ मैंं इस्तेमाल किया उसे जरूर डालें

  • एक बात हमेशा ध्यान रखें कि परमार लिंक हमेशा छोटा होना चाहिए

(11) Tage.

आप चाहो तो tage डाल सकते हो लेकिन आप जहां तक मेरी मानो आपको चार से पांच टैग का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए इससे भी आपकी पोस्ट का रैंक होने के चांस होतेे हैं

(12) Image.

आप अपनी ब्लॉग पोस्ट में फोटो का भी इस्तेमाल जरूर करें क्योंकि फोटो का इस्तेमाल करना एक तरह से आपकी ब्लॉग पोस्ट का थंबनेल बन जाता है आप हमेशा फोटो को अपने ब्लॉग पोस्ट में अपलोड करने से पहले photo & pictures App का या आप compress PNG.com वेबसाइट का इस्तेमाल करके उस फोटो की साइज कम कर ले, क्योंकि अगर आप बड़ी साइज की फोटो का इस्तेमाल अपनी साइट में करते हो तो आपकी साइट लोड होने में ज्यादा टाइम लगाने लगेगी इसलिए कोई भी फोटो अपलोड करने से पहले उसकी साइज जरूर कम करें

(a) Image Seo. आपको अपनी ब्लॉग पोस्ट में फोटो अपलोोड करने के बाद आपको उस फोटो का seo करना है इसके लिए आप फोटो में title मैं all text अपने टैग का इस्तेमाल कर सकते हो इसके बाद आप फोटो का caption भी लिख सकते हो और आप चाहो तो description भी लिख सकतेे हो

  • आप जो भी फोटो अपने ब्लॉग पोस्ट में अपलोड करते हो उसकी साइज 100kb से भी कम होनी चाहिए
  • फोटो लगाने से जो लोग आपकी ब्लॉग पोस्ट पढ़ते हैं वह आपके ब्लॉक के प्रति आकर्षित होते हैं इसलिए आप हमेशा एक फोटो का इस्तेमाल जरूर करें
(13) yost seo.

अब आपको चेक करना है yost seo अगर आपके पास यह प्लेगइन नहीं है तो आप इसे इंस्टॉल कर सकते हो क्योंकि यह प्लेगइन seo करने के लिए वरदान साबित होता है

जब आप एक seo friendly article लिखते हो तो यह प्लेगइन आपके पूरे ब्लॉग को एनालाइज कर लेगा वह नीचे आपको बता देगा कि आपके ब्लॉग में क्या क्या कमी है

(a) इसके बाद आपको इसमें सबसे पहले मिलता है preview इसमें आपको यह देखना है कि आपकी लोग पोस्ट गूगल में कैसी दिखेगी लेकिन अगर आप चाहो तो इसे एडिट भी कर सकते हो और कुछ अट्रैक्टिव शब्द लिख सकते हो जिससे यूज़र आपकी साइट पर क्लिक करने के लिए अपने आप को रोक नहीं पाए

(b) Seo title. इसमें आपको अपने main keyword को शामिल करना है और साथ में ही कुछ अट्रैक्टिव शब्द भी लिख सकते हो

(c) Slug. इसमें भी आप परमार लिंक की तरह एक लिंक बना सकते हो या टेग डाल सकते हो

(d) Meta Description. जब हम किसी के बारे में गूगल पर सर्च करते हैं तो हमारे सामने बहुत सारी साइटें खुलकर आती है तो जो बिना साइट के अंदर गए ही हमेंं बाहर ही कुछ शब्द लिखते हैं उसे meta description कहते हैं

तो आप जब इस लिखते हो तो ऐसा लिखे जो लोगों को अट्रैक्टिव लगे

(e) Good Results. इसके बाद यह जो भी आपकी ब्लॉग पोस्ट में कमी होगी उन्हेंं वह रेड के रूूप में और जो गुड रिजल्ट होंगेे उन्हें ग्रीन के रूप में दिखा देगा

तो दोस्तों आपको यह How to write seo friendly article आर्टिकल कैसा लगा अगर इससे आपकी थोड़ी बहुत ही मदद हुई हो तो आप इसे प्लीज ज्यादा से ज्यादा लोगों तक शेयर करें धन्यवाद