wifi kya hai what is wifi in hindi वाईफाई क्या है

वाईफाई किस काम में आता है और इसे कैसे उपयोग में लेते हैं यह तो हम सबको पता है लेकिन क्या आपको पता है की वाईफाई के पीछे का इतिहास क्या है (history of wifi )वाईफाई क्या है wifi kya hai what is wifi in hindi वाईफाई के जनक किसे कहा जाता है जब इंटरनेट को आए हुए कुछ समय हुआ तो लोग केबल के माध्यम से इंटरनेट चलाया करते थे लेकिन धीरे-धीरे इंटरनेट में कई सारे बदलाव हुए और आज इंटरनेट ने बहुत बड़ा रूप ले लिया है

Wifi (वाईफाई) को लेकर यदि आपके भी मन में बहुत सारे सवाल उठ रहे हैं तो इस लेख को लास्ट तक पढ़ते रहे इस संपूर्ण लेख में हम आपको बताएंगे कि wifi kya hai what is wifi in hindi और यह कैसे काम करता है इसकी शुरुआत कैसे हुई वाईफाई का इतिहास क्या है (history of wifi) wifi टेक्नोलॉजी कैसे बनी आदि और कई सारे सवाल जो आपके मन में चल रहे हैं वह सब आपको इस संपूर्ण आर्टिकल में मिलने वाले हैं

what is wifi wifi kya hai वाईफाई क्या है

Wifi complete information

  • wifi kya hai (what is wifi in hindi)
  • वाईफाई का इतिहास क्या है (history of wifi)
  • वाईफाई का आविष्कार किसने किया
  • Wifi कैसे काम करता है
  • वाईफाई राउटर क्या है और कैसे काम करता है
  • वाईफाई 1,2,3,4,5, और 6 क्या है
  • wifi full form
  • Wifi और lifi मैं क्या अंतर है
  • वाईफाई के फायदे क्या है
  • Wifi के नुकसान क्या है
  • वाईफाई कॉलिंग क्या है
  • वाईफाई का भविष्य कैसा है

सीखिए संपूर्ण ब्लॉगिंग और कमाइए लाखों रुपए

youtube से पैसे कैसे कमाए जानिए है संपूर्ण जानकारी step by step

1.wifi kya hai वाईफाई क्या है wifi in hindi:-

दोस्तो वाईफाई एक वायरलेस इंटरनेट है वाईफाई रेडियो तरंगों के रूप में लोगों को इंटरनेट प्रोवाइड कराता है वाईफाई वायरलेस नेटवर्क का एक सबसे पुराना और लोगों का लोकप्रिय नेटवर्क है इसके जरिए हम अपने कंप्यूटर और मोबाइल मैं बिना किसी वायरलेस कनेक्शन के इंटरनेट चला सकते हैं आजकल लोग घर पर और ऑफिस मेंं काम करने के लिए वाईफाई कनेक्शन लगाते हैं वाईफाई एक निश्चित स्थान मैं काम करता है वाईफाई के माध्यम से हम हमारे फोन में बिना किसी मोबाइल डाटा के इंटरनेट चला सकते हैं एक वाईफाई के माध्यम से हम कई सारे हैं फोन और कंप्यूटर को कनेक्ट करके एक साथ चला सकते हैं

2.वाईफाई का इतिहास क्या है (history of wifi):-

दोस्तों वैसे तो वाईफाई का जन्म 1985 में हो गया था लेकिन इसे लोगों तक 1997 में लाया गया था यूनाइटेड स्टेट fcc ( federal communications commission ) ने यह ऐलान किया कि IEEE (Institute Electrical Electronic Engineers) 802.11 प्रोटोकॉल को बिना लाइसेंस के कोई भी व्यक्ति इस्तेमाल कर सकता है और उस समय से मानो वाईफाई का इतिहास (history) शुरू हो गई थी

1997 में जब 802.11 को प्रकाशित किया गया तब इसकी स्पीड 2 मेगाबाइट प्रति सेकंड थी लेकिन बाद में इसमें बहुत कुछ बदला हुआ और इसे एक बार फिर से 1999 में नए रूप में प्रकाशित किया गया था 1999 में इसका नाम बदलकर 802.11a कर दिया गया इस वर्जन की स्पीड पहले वर्जन के मुकाबले काफी ज्यादा थी इस वर्जन की स्पीड 54 मेगाबाइट थी लेकिन इस वर्जन की सबसे बड़ी कमजोरी है यह थी कि यह काफी महंगा था

इसके बाद इसे और अपडेट किया गया और इसका और अगला वर्जन निकाला गया इसके अगले वर्जन का नाम 802.11b था इस वर्जन को लोगों के लिए काफी सस्ता रखा गया वह इसकी स्पीड भी पहले वाले दो वर्जन के मुकाबला कई गुना ज्यादा हो गई थी और बाद में देखतेे ही देखते 802.11b पूरी दुनिया लोकप्रिय हो गया

इस वर्जन के बाद 2003 में इसका और पहले से ज्यादा बेहतर वर्जन आया था इस वर्जन का नाम 802.11g था

इसके बाद इसका और कई गुना बेहतर और पहले से बहुत सस्ता वर्जन 2009 में और आया जिसका नाम 802.11n था

इस वर्जन के बाद 5 साल बाद इसका एक और बड़ा रूप आया यह वर्जन 2014 में लांच हुआ जिसका नाम 802.11ac था

इस वर्जन के बहुत समय बाद इसका एक और रूप देखनेे को मिला इसका यह रूप 2019 मेंं आया था इसके इस रूप का नाम 802.11ax standard था

3.वाईफाई का आविष्कार किसने किया:-

दोस्तों आज आप और हम वाईफाई का इस्तेमाल तो रोजाना करते हैं वाईफाई के माध्यम से आप और हम सभी को काम करना कितना आसान हो गया है लेकिन हमें यह नहीं पता की इतनी बड़ी नेटवर्किंग टेक्नोलॉजी का आविष्कार किसनेे किया इस टेक्नोलॉजी को बनाने वाले महान वैज्ञानिक का क्या नाम है तो चलिए मैं आपको बताता हु

वाईफाई का पूरा श्रेय gohn O sullivan को जाता है वैसे तो वाईफाई को इन्होंने अकेले नहीं बनाया था इनके साथ इनकी टीम में और भी कई सारे लोग शामिल थे लेकिन बाद में जो वाईफाई में अच्छा खासा इंप्रूवमेंट नहीं हुआ तो इन्होंने वाईफाई मैं खुद से ही बहुत सारे चेंजर किए ताकि वाईफाई को और बेहतर बनाया जा सके इसके बाद इन्होंने काफी कुछ बदलाव किया और वाईफाई को पहले से बेहतर और बहुत ही फास्ट बनाया इन्होंने वाईफाई की स्पीड को पहले के मुकाबले कई गुना तेज कर दिया था इसलिए वाईफाई बनाने का पूरा श्रेय gohn o sullivan को जाता है

यदि आज के वाईफाई कि हम बात करें तो आजकल कई सारी कंपनियों के वाईफाई राउटर इतने तेज और फास्ट आ गए हैं कि इनकी नेटवर्किंग स्पीड 900 मेगाबाइट पर सेकंड है और आगे भी इसे और भी ज्यादा फास्ट बनाने की पूरी तैयारी की जा रही है

4. वाईफाई कैसे काम करता है:-

दोस्तों आजकल हमारे आसपास कई सारे घर ऑफिस कॉलेज और हॉस्पिटल स्कूल आदि में सारा का सारा काम ऑनलाइन हो गया है और इसके लिए इन स्थानों पर कई सारे कंप्यूटर और लैपटॉप लगे हुए रहतेे हैं और अब इनमें डाटा को स्थानांतरित एक जगह सेे दूसरी जगह भेजने के लिए इंटरनेट की आवश्यकता होती है इसके लिए यह लोग अपनी छत या अन्य जगहों पर वाईफाई कनेक्शन लगाते हैं जो के पूर्ण तरह से वायरलेेस नहीं होता है इसमें ज्यादा बड़ी तो नहीं लेकिन छोटी सी एक वायर लगी हुई रहती है जो ऊपर लगे एंटीना और बॉक्स को और उस बॉक्स केेे माध्यम से हम और सभी लोग इंटरनेट का भरपूर आनंद उठा सकते है

लेकिन अब समय बदल गया है और टेक्नोलॉजी बहुत फास्ट हो गई है अब वाईफाई कनेक्शन के लिए सिर्फ एक छोटा सा पैकेट जो हमारे पॉकेट मैं भी आसानी से आ जाता है इतने छोटे से बॉक्स की मदद से हम आसानी से कहीं पर भी अपने मोबाइल कंप्यूटर और लैपटॉप को आसानी से कनेक्ट करके इंटरनेट चला सकते हैं इस छोटे से बॉक्स में एक छोटी बैटरी और सारा वाईफाई हॉटस्पॉट कनेक्शन रहता है इसमें हमें एक सिम लगानी होती है के बाद हम इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकते हैं

wifi zone

लेकिन दोस्तों अब टेक्नोलॉजी पहले से और कई गुना ज्यादा फास्ट और एडवांस हो गई है अब जो मोबाइल कंपनियां मोबाइल बनाती है उन्होंने भी मोबाइल में ही हॉटस्पॉट कनेक्शन दे दिया है जिसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति उस मोबाइल फोन से आसानी से हॉटस्पॉट कनेक्ट करके इंटरनेट का मजा ले सकता है इसके लिए बस सामने वाले के मोबाइल फोन में मोबाइल प्रीपेड बैलेंस होना चाहिए

इसकी बस एक छोटी सी बात है की वाईफाई कनेक्शन और मोबाइल हॉटस्पॉट यह सिर्फ एक सीमित क्षेत्र में ही काम करता है का एक निश्चिंत स्थान होता है उसी स्थान में जो भी कंप्यूटर लैपटॉप और मोबाइल फोन होते हैं रहे इसको कनेक्ट करके आसानी से अपने फोन में इंटरनेट चला सकते हैं कुल मिलाकर यह एक छोटे से स्थान को माना करते है जिसे wifi zone कहा जाता है

5. वाईफाई राउटर क्या है और कैसे काम करता है:-

हम किसी भी प्रकार के डिवाइस को चलाने के लिए इंटरनेट की आवश्यकता होती है और हम हमारे फोन या कंप्यूटर में दो प्रकार से इंटरनेट चला सकते हैं पहला तो किसी सिम में डाटा प्लान करा कर इंटरनेट चला सकतेे हैं और दूसरा तरीका है वाईफाई जी हां अधिकतर लोग अपने घर ,ऑफिस ,स्कूल ,कॉलेज और अपने लैपटॉप या कंप्यूटर को चलाााने के लिए अधिकतर लोग वाईफाई का ही इस्तेमाल करते हैं और हमें वाईफाई का उपयोग करने के लिए एक राउटर लगाना होता है जिससे हम हॉटस्पॉट कनेक्ट करके हम हमारे फोन या कंप्यूटर मेंं आसानी से इंटरनेट चला सकते है

Wifi router वाईफाई राउटर क्या होता है:-

राउटर एक प्रकार का छोटा सा डिवाइस या गैजेट होताा है जो किसी भी कंप्यूटर लैपटॉप या मोबाइल को इंटरनेट से कनेक्ट करता है वाईफाई कई प्रकार के होते हैं कई सारे वाईफाई को एक केबल के माध्यम से जोड़ा जाता है और अब कई सारे आधुनिक राउटर आने लगे हैं जो बिना किसी केबल कनेक्शन के भी हमेंं हाई स्पीड इंटरनेट देते हैं आज के इस आधुनिक युग में कई सारे ऐसे मिनी राउटर बन गए हैं

जिन्हें हम हमारे पॉकेट मैंं भी आसानी से रख सकते हैं और कहीं पर भी किसी भी जगह हम उस राउटर को कनेक्ट करके लैपटॉप या मोबाइल में हाई स्पीड इंटरनेट चला सकतेे हैं इस मिनी राउटर को हमें चार्ज करने की जरूरत पड़ती हैै जबकि जो राउटर हमारे घर या ऑफिस मेंं लगे रहते हैं उनको हम डायरेक्ट बिजली के माध्यम से चलना पड़ता है

राउटर कैसे काम करता है:-

एक राउटर का काम आता है किसी डिवाइस में इंटरनेट पहुंचाना जब राउटर डाटा पैकेट को किसी भी डिवाइस में फॉरवर्ड करता है अगर मैं आपको सरल शब्दों में समझाऊं तो इसका मतलब यह है की राउटर एक नेटवर्क को दूसरे नेटवर्क फॉरवर्ड करता है राउटर का क्या काम होता है किसी भी पॉकेट को किसी से लेना और किसी भी डिवाइस को देना

6. वाईफाई 1,2,3,4,5, और 6 क्या है:-

दोस्तों वैसे तो वाईफाई 1,2,3,4,5, और 6 वाईफाई की पीढ़ियां है जैसे-जैसे वाईफाई की दुनिया में वाईफाई का और विस्तार होता गया वैसे वैसे वाईफाई की एक से बढ़कर एक टेक्नोलॉजी आगे आने लगी जिसके कारण जैसे-जैसे वाईफाई में और इंप्रूवमेंट होता गया वैसे वैसे इसे नंबर दे दिए गए वैसे तो इन नंबर्स का मतलब कुछ और निकलता है लेकिन वह नंबर बहुत ही हार्ड है और वह लोगों को आसानी से याद नहींं रहता है इसलिए इसको 1,2,3,4,5, और 6 नाम दे दिया गया है चलिए मैं आपको आगे wi fi 6 को विस्तार से समझाता हूं

Wifi 6 का पूरा नाम “802.11ax wifi” है इस जनरेशन को एक और नाम ax wifi के नाम से भी जाना जाता है wifi को 15 अगस्त 2017 को मार्केट में लाया गया इसे मार्केट में 802.11ax नाम के रूप में उतारा गया था वाईफाई की स्पीड 10 जीपीपीएस प्रति सेकंड तक आप की गई है और इस जनरेसन से पहले वाईफाई की 5 किस स्पीड 3 पॉइंट 5 जीबीपीएस प्रति सेकंड तक थी

7.Wifi full form:-

वाईफाई एक ऐसी नेटवर्किंग सर्विसेज जो लोगों को कई गुना स्पीड में इंटरनेट चलाने और उनके किसी भी फाइल या डाउनलोड हो फास्ट कर देने वाली तकनीक है इसके माध्यम से कई लोगों को इंटरनेट चलाने में परेशानी नहींं आती है और अपने काम को इंटरनेट के माध्यम से कई गुना सरल और फास्ट बना लेते है Wifi full form – wifi का पूरा नाम wireless fidelity होता है

8. Wifi और lifi मैं क्या अंतर है:-

आज के इस आधुनिक रूप है लोगों को हाई स्पीड इंटरनेट की जरूरत है और इसी जरूरत को पूरा करने के लिए कई सारी यूनिवर्सिटी लााईफाई टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है ताकि फ्यूूचर में इंटरनेट और ना ट्रांसफर को और कई गुना फास्ट बनाया जा सके लाााईफाई टेक्नोलॉजी जो वाईफाई से कई गुना आधुनिक और एडवांस है चलिए अब मैं आपको वाईफाई और टाइफाइड में क्या चेंज है इन दोनों में क्या अंतर है वह समझाता हूं

Lifi- लाईफाई एक वायरलेस डाटा ट्रांसफर टेक्नोलॉजी है इस टेक्नोलॉजी के द्वारा किसी भी डिवाइस मैं डाटा भेजने या किसी व्यक्ति विशेष को डाटा ट्रांसफर करने के लिए प्रकाश की किरणों का प्रयोग किया जाता है

  • लाई फाई का पूरा नाम light fidelity है
  • इस टेक्नोलॉजी में डाटा ट्रांसफर करने के लिए एलइडी बल्ब या किसी प्रकाश की किरण का उपयोग किया जाता है
  • Lifi टेक्नोलॉजी में इंटरनेट की स्पीड को 100 जीबीपीएस प्रति सेकंड तक पहुंचाने के लिए काम किया जा रहा है जो कि बहुत ही ज्यादा है

Wifi- वाईफाई टेक्नोलॉजी में इसी मेरी डिवाइस में डाटा भेजने या लेने के लिए radio waves तरंगों का इस्तेमााल किया जाता है

  • वाई फाई का पूरा नाम wireless fidelity है
  • वाईफाई टेक्नोलॉजी डाटा ट्रांसफर करने के लिए रेडियो वॉइस तरंगों का इस्तेमाल होता है
  • इस टेक्नोलॉजी में इंटरनेट की स्पीड 10gbps प्रति सेकंड तक है
9. वाईफाई के फायदे क्या है:-

चलिए अब मैं आपको वाईफाई वाईफाई से हमें क्या-क्या फायदे उनके बारेे में बताता हूं

  • हम हमारे वाईफाई राउटर को कहीं भी किसी भी जगह किसी भी स्थान हम जहां चाहिए वहां पर हम वाईफाई राउटर का भरपूर इस्तेमाल कर सकते हैं और इसके माध्यम से इंटरनेट का इस्तेमाल कर सकते हैं
  • वाईफाई में इंटरनेट की स्पीड बहुत ही ज्यादा रहती है वाईफाई में 100 एमबीपीएस प्रति सेकंड तक इंटरनेट की स्पीड आती है जो कि किसी मोबाइल नेटवर्क की स्पीड से कई गुना ज्यादा है
  • आज के आधुनिक समय में आपको कई सारे स्थानों पर वाईफाई नेटवर्क उपलब्ध हो जाते हैं जैसे किसी होटल बस या किसी बस स्टैंड रेलवे स्टैंड आदि कई स्थानों पर आपको आसानी से वाईफाई नेटवर्क मिल जाता है
  • वाईफाई कनेक्शन करवाना भी बहुत ही आसान है इसके लिए आप अपने किसी भी नजदीकी स्टोर से संपर्क करके अपने घर में आसानी से वाईफाई राउटर लगा सकते हो और इंटरनेट का भरपूर मजा ले सकते हो
  • वाईफाई का डाटा पैक बहुत ही कम होता है
10. वाईफाई के नुकसान क्या है:-

चलिए अब मैं आपको वाईफाई के क्या नुकसान है के बारे में बताता हूं

  • वाईफाई टेक्नोलॉजी में आप किसे स्थापित स्थान तक ही इंटरनेट का मजा ले सकते हो यदि आप अपने राउटर या वाईफाई कनेक्शन है थोड़े भी दूर चले जाते हो तो आपकी इंटरनेट स्पीड धीमी हो जाएगी
  • Wifi का कनेक्शन करवाने के लिए हमें इसके लिए केबल कनेक्शन भी करवाना होता है तब जाकर हमारे पास वाईफाई पहुंचता है
  • Wifi नेटवर्क का आप 100 या 200 मीटर के अंदर ही उपयोग कर सकते हैं यदि आप इसके बाहर जाते हैं तो आपका इंटरनेट चलना बंद हो जाएगा और यह सबसे ज्यादा स्पीड वहीं पर प्रदान करता है जहां पर वाईफाई राउटर लगा हुआ रहता है
  • वाईफाई राउटर का सिक्योरिटी सिस्टम बहुत ही कमजोर है
11. WiFi calling वाईफाई कॉलिंग क्या है:-

वाईफाई कॉलिंग में आपको किसी भी व्यक्ति से बात करने के लिए किसी रोमिंग बैलेंस की जरूरत नहीं होती हैै क्योंकि इसमें आप अपने हॉटस्पॉट या अपने राउटर के माध्यम से वाईफाई कनेक्ट करके किसी भी व्यक्ति से फ्री में घंटों बातेंं कर सकते हैं इसके लिए बस दोनों तरफ वाईफाई कनेक्शन होना चाहिए और इसके साथ आप फ्री में बात करने का लुफ्त मजा उठा सकते हो

12. वाईफाई का भविष्य कैसा है:- दोस्तों फ्यूचर में वाईफाई का भविष्य खतरे में आ सकता है क्योंकि अभी आधुनिक युग में कई सारी एडवांस टेक्नोलॉजी पर काम किया जा रहा है जैसे लाईफाई अगर यह टेक्नोलॉजी मार्केट में आ गई तो लोग वाईफाई को भूल जाएंगे क्योंकि यह लाईफाई टेक्नोलॉजी वाईफाई टेक्नोलॉजी केे कई गुना सरल सहज और एडवांस और हाई स्पीड इंटरनेट प्रदान करने वाली है और भी कई सर यूनिवर्सिटी कंप्यूटर और लैपटॉप को हाई स्पीड इंटरनेट प्रदान करवाने के लिए वाईफाई के जैसी कई सारी एडवांस टेक्नोलॉजी पर काम कर रही है

तो हम आशा करते हैं कि आपको यह समझ में आ गया होगा कि wifi kya hai what is wifi क्या होते हैं

अगर आपको यह हमारा आर्टिकल wifi kya hai what is wifi in hindi नॉलेजेबल लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ फेसबुक व्हाट्सएप टि्वटर हद सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर जरूर शेयर करें

हमारे इस संपूर्ण लेख को आज तक पढ़ने के लिए आपका प्रेम पूर्वक बहुत-बहुत धन्यवाद