Auto blogging kaise kare in hindi Auto blogging kya hai

नमस्कार दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं की Auto blogging kaise kare या ऑटोब्लॉगिंग होता क्या है, क्या हम भी ऑटोब्लॉगिंग कर सकते हैं, क्या ऑटोब्लॉगिंग से Earning होती है, क्या ऑटोब्लॉगिंग कॉपीराइटेड होती है या ऑटोब्लॉगिंग कैसे, शुरू करें, क्या ऑटोब्लॉगिंग ब्लॉगर पर करनी चाहिए या वर्डप्रेस पर तो दोस्तों अंत तक इस आर्टिकल को जरूर पढ़ें मैं आपको बताने वाला हूं कि यह सब क्या चक्कर है ऑटोब्लॉगिंग का यह कैसे कार्य करता है आप सच में से कमा सकते हो या नहीं तो चलिए जानते हैं Auto blogging kaise kare

Auto blogging kya hai? Auto blogging kaise kare in hindi

  • ऑटोब्लॉगिंग kya hai?
  • क्या आप भी ऑटोब्लॉगिंग कर सकते हैं
  • क्या Auto blogging से Earnings होती है
  • ऑटोब्लॉगिंग कॉपीराइटेड होता है
  • ऑटोब्लॉगिंग किस प्लेटफार्म पर करें
  • Auto blogging kaise kare
  • Auto blogging के फायदे
  • ऑटो ब्लॉगिंग के नुकसान

> Event Blogging क्या है इवेंट ब्लॉगिंग कैसे करें

> Micro Blogging क्या है माइक्रोब्लॉगिंग कैसे करें

1, Auto blogging kya hai

दोस्तों हम सब से पहले जान लेते हैं कि Auto blogging है क्या तो दोस्तों, मैं आपको बता दूं auto blogging नाम सुनते ही हमें लगता है की automatic काम करेगा। हमें तो कुछ करना ही नहीं पड़ेगा, और यह सच भी है यहां पर सिर्फ आपको एक बार Setup करना होता है। बाद में ऑटोमेटिक पोस्ट होती रहती हैं दोस्तों Basically होता क्या है सारे बड़े-बड़े News websites या कई सारे ऐसे websites होते हैं जहां पर RSS फीड होते हैं ।

और इसकी मदद से आप बेसिकली क्या कर सकते हैं उनके कॉन्टेंट को अपनी वेबसाइट पर पब्लिश कर सकते हैं और दोस्तों जब भी वह लोग अपनी साइट पर कुछ पब्लिश करेंगे तो आपकी साइट पर वह आर्टिकल या लेख ऑटोमेटिक पब्लिश हो जाएगा और दोस्तों मैं आपको बता दूं जो बड़े-बड़े News websites होते हैं वहां पर रोज के लगभग 100 200 आर्टिकल पब्लिश होते हैं तो आप उन्हें सीधे-सीधे अपनी वेबसाइट पर पब्लिश कर सकते हो और यह आपके लिए एक फायदा है

2, क्या आप भी ऑटोब्लॉगिंग कर सकते हैं?

जी हां आप भी अगर एक न्यूज़ साइट या फिर कोई भी साइट चलाते हो तो आप r.s.s. फीड की मदद से ऑटोब्लॉगिंग कर सकते हैं और ऑटोब्लॉगिंग कोई भी कर सकता है इसके लिए आपको एक वेबसाइट चाहिए होती है यह एक ब्लॉग चाहिए होता है जिस पर आप ऑटोब्लॉगिंग करना चाहते हैं ऑटोब्लॉगिंग किस प्लेटफार्म पर करना है इसके बारे में हम आगे जानेंगे तब तक मैं आपको यह बता दूं कि अगर आप रेगुलर ब्लॉगिंग करते हो और रेगुलर ब्लॉगिंग में क्या होता है रोज की पंद्रह बीस पोस्ट लिखना भी मुश्किल काम है तो आप इस केस में ऑटोब्लॉगिंग कर सकते हैं जहां पर आपको लगभग 50 60 पोस्ट आसानी से मिल जाती है तो यह आपके लिए प्लस पॉइंट है

3, क्या Auto blogging से Earnings होती है

दोस्तों यहां पर मैं आपको बताना चाहता हूं कि कई सारे ब्लॉगर बोलते हैं कि आप ऑटोब्लॉगिंग से Earning कर सकते हो हां और यह बात कुछ हद तक सही भी है और कुछ हद तक गलत भी है क्योंकि दोस्तों इस चीज को गूगल का कतई सपोर्ट नहीं करता है और वह आपके आर्टिकल को इंडेक्स नहीं करता है जिसके कारण आपका आर्टिकल सर्च रिजल्ट में नहीं आता है और आपको ऑर्गेनिक ट्राफिक भी नहीं मिल पाता है और कुछ कंडीशन में तो आपका ऐडसेंस अकाउंट भी बैन हो सकता है लेकिन आप कुछ कंडीशन में Earning कर सकते हो जहां तक मेरा पर्सनल एक्सपीरियंस है तो यह कुछ हद तक ही ठीक है बाकी पूरा गलत है

4, ऑटोब्लॉगिंग कॉपीराइटेड होता है

जी हां लेकिन जब आप उस पोस्ट को थोड़ी सी edit कर देते है, तो उसे copyright नही माना जायेगा इसके साथ ही मैं आपको बता दू की, यह site के फीड से पोस्ट डालता है और उस site को credit भी देता है। जिससे कारण copyright का डर थोड़ा कम हो जाता है। Auto blogging करने के लिए, आपको ब्लॉगर पर या wordpress पर एक website Create करना होता है।

लेकिन इससे मुझे मतलब कम लगता है बात आपके ऑर्गेनिक ट्रैफिक की है जो कि गूगल के थ्रू आता है और गूगल को पता होता है कि कौन सा आर्टिकल कॉपीराइट है और कौन सा नहीं इसलिए वह आपके आर्टिकल को इंडेक्स नहीं करेगा क्योंकि आप से पहले दूसरी वाली साइट पॉपुलर है तो गूगल उसे ही रिकमेंड करेगा आपकी साइड को नजरअंदाज कर देगा इसलिए जहां तक हो सके अपना कुछ करने की कोशिश करें फिर आपकी मर्जी

5, ऑटोब्लॉगिंग किस प्लेटफार्म पर करें? Auto blogging kaha kare?

दोस्तों auto blogging के लिए वैसे तो बहुत सारे प्लेटफार्म है लेकिन ज्यादातर इस्तेमाल दो ही प्लेटफार्म का होता है पहला blogger दूसरा WordPress हम तो वैसे वर्डप्रेस पर Auto blogging करना थोड़ा ठीक रहता है वैसे तो ब्लॉगर पर भी ज्यादा प्रॉब्लम तो नहीं है लेकिन यहां पर आपको कस्टम ऑप्शन बहुत कम मिलते हैं इसलिए ऑटोब्लॉगिंग के लिए मैं आपको सजेस्ट करूंगा वर्डप्रेस वैसे दोस्तों अगर आपको फ्री इस्तेमाल करना है तो आप ब्लॉगर चुनिए

लेकिन आपको एक प्रोफेशनल तरीके से करना है तो आप वर्डप्रेस को चुनिए क्योंकि वर्डप्रेस पर आपको सेटअप करने के लिए plug-in मिल जाते हैं जबकि ब्लॉगर पर ऐसा कुछ नहीं लेकिन यहां पर ऑटोब्लॉगिंग इसलिए फायदेमंद रहती है क्योंकि यहां पर आपको होस्टिंग अनलिमिटेड मिलती है जबकि वर्डप्रेस पर ऐसा नहीं है और ज्यादातर लोगों का मानना भी है की ऑटोब्लॉगिंग के लिए blogger अच्छा प्लेटफार्म है तो इसे आप अपने हिसाब से डिसाइड कीजिए

6, Auto blogging kaise kare?

  • पहले आपको ब्लॉगर में या वर्डप्रेस पर एक ब्लॉग बनाना या Create करना होगा तो आप एक ब्लॉग Create कर ले
  • आपको जिस साइट की पोस्ट कॉपी करना है उस ब्लॉग का Feed Url तैयार कर ले। क्रोम ब्राउज़र पर Get RSS Feed URL का Extension Add करके आप किसी भी साइट का Url Feed पता कर सकते है। उसका लिंक यह हैं Get RSS Feed URL
  • IFTTT website पर अकाउंट बना ले इसका अकाउंट बनाना बहुत ही सरल है इसके लिए आपको एक ईमेल आईडी की जरूरत होगी।

7, Auto blogging के फायदे

दोस्तों में से ऑटोब्लॉगिंग के कई फायदे हैं और कई नुकसान भी है लेकिन नुकसान के बारे में हम बाद में बात करेंगे पहले फायदों के बारे में बात करते हैं

  • Auto blogging का सबसे पहला फायदा तो इसके नाम में ही है यानी ऑटोमेटिक दोस्तों यहां पर आपको आर्टिकल लिखने की जरूरत नहीं पड़ेगी यहां अपने आप आर्टिकल पब्लिश होते जाएंगे तो पहला फायदा तो यही हो गया
  • ऑटोब्लॉगिंग का दूसरा फायदा यह है कि अगर आपके पास कंटेंट खत्म हो गया है तो auto blogging की वजह से आपका कंटेंट भरपूर रहेगा और आपको दिक्कत लेने की जरूरत नहीं पड़ेगी
  • यहां पर रोज ज्यादा आर्टिकल पोस्ट होने की वजह से आपकी साइट पर ट्रैफिक आने लगता है और साइड रैंक करने लगती है
  • यहां पर आप अपने niche से रिलेटेड Affiliate marketing करके पैसे कमा सकते हो
  • ऑटो ब्लॉगिंग साइट पर आप दूसरी साइटों का प्रमोशन कर सकते हो
  • यहां पर आप ऐडसेंस के अलावा दूसरे स्त्रोतों से भी पैसे कमा सकते हो इसलिए अगर ऐडसेंस ना भी खुले फिर भी फायदा होता है

> Top 21 niches for blogging in hindi

8, ऑटो ब्लॉगिंग के नुकसान

  • दोस्तों ऑटोब्लॉगिंग का सबसे पहला नुकसान यह है कि यहां पर आपको ऐडसेंस अप्रूवल मिल भी सकता है और नहीं भी मिल सकता है नहीं मिलने का ज्यादा चांस है और मिलने के कम
  • Copyright कंटेंट होने की वजह से यहां पर कॉपीराइट का खतरा हर टाइम मंडराता रहता है और आपके ब्लॉग पर कभी भी Copyright Claim आ सकता है
  • बार-बार Copyright Claim आने की वजह से Google आपके blog को बैन कर सकता है और आपका blog अगर blogspot.com पर है तो हमेशा के लिए हटाया भी जा सकता है
  • अगर आप अप्रूव ऐडसेंस का इस्तेमाल करते हैं तो आपका ऐडसेंस अकाउंट हमेशा के लिए सस्पेंड किया जा सकता है
  • ऑटोब्लॉगिंग में Duplicate कंटेंट होने की वजह से गूगल आपके आर्टिकल को कभी सर्च इंजन में नहीं लाता इसकी वजह से आपको ऑर्गेनिक ट्राफिक नहीं मिल सकता
  • वैसे यह तो सच है ऑटोब्लॉगिंग के कुछ फायदे हैं लेकिन नुकसान ज्यादा है यहां पर समय की बर्बादी नहीं होती है लेकिन आप सीख भी कुछ नहीं सकते अब यह आपको सोचना है कि आप प्रोफेशनल बनना चाहते हैं या बाकी वर्ड आप अपने लिए खुद चुने
  • अगर आप इसे अपने शौक के तौर पर करना चाहते हैं तो इसमें कोई दो राय नहीं है लेकिन इसमें मैं आपको सजेस्ट करूंगा कि आप फ्री का ही चुने वर्डप्रेस पर अपने पैसे ना खर्च करें और हो सके तो अपनी प्रोफेशनल ईमेल आईडी को इस्तेमाल नहीं करें इसके लिए दूसरी ईमेल बना लीजिए
धन्यवाद

तो दोस्तों हम आशा करते हैं कि आपको ऑटोब्लॉगिंग से रिलेटेड सारे सवालों के उत्तर मिल गए होंगे और फिर भी अगर आपका कोई प्रश्न है तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं kakainfoteam आपकी सेवा में हमेशा हाजिर है

दोस्तों हमारे इस संपूर्ण आर्टिकल Auto blogging kaise kare in hindi को अंत तक पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर जरूर शेयर करें

Thank you so much आपकी अपनी kakainfoteam