WiFi Full Form( वाईफाई फुल फॉर्म) wifi क्या है?

नमस्कार दोस्तों आज के लेख में मैं आपको बताऊंगा कि wifi full form क्या है और साथ ही वाईफाई से जुड़ी संपूर्ण जानकारी जैसे की वाईफाई क्या है, वाईफाई का आविष्कार किसने और कब किया, वाईफाई का इतिहास क्या है और साथ ही वाईफाई के क्या फायदे हैं और क्या नुकसान है और भी वाईफाई से संबंधित संपूर्ण जानकारी के साथ-साथ आपके सभी सवालों के जवाब इस आर्टिकल में मैं देने की कोशिश करूंगा तो आप इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ते रहे

वाईफाई जैसे उपकरण की शुरुआत आज के 6 से 7 दशक पहले की हो गई थी लेकिन इस उपकरण का सही इस्तेमाल एक से दो दशकों में ही होने लगा है बाकी का सारा समय वाईफाई को कई गुना ज्यादा इंप्रूवमेंट करने में लगा है वाईफाई एक ऐसा उपकरण है जो रेडियो तरंगों के रूप में लोगों को इंटरनेट उपलब्ध कराता है वाईफाई दुनिया का पुराना और लोकप्रिय इंटरनेट है वाईफाई का इस्तेमाल आजकल अधिकतर घरों में ऑफिस में स्कूलों और कॉलेज आदि कई स्थानों पर होने लगा है और इसको लेकर लोगों का इस्तेमाल और बढ़ता ही जा रहा है

Wifi full Form :-

वाईफाई दुनिया की एकमात्र इसी इंटरनेट प्रोवाइड सर्विस सेवा है जो लोगों को इंटरनेट की कई गुना ही स्पीड देखकर उनको बड़ी से बड़ी फाइलें और वीडियो आदि को डाउनलोड करने और देखने में मदद करता है वाईफाई लोगों को बड़ी से बड़ी फ़ाइलों को डाउनलोड करने से लेकर फास्ट इंटरनेट चलाने तक की कई प्रकार की सुविधा उपलब्ध कराता है आज के समय में इंटरनेट को आसान और फ़ास्ट चलाना वाईफाई की मदद से कई गुना आसान हो गया है wifi full form -: wireless fidelity है

अब हम वाईफाई के कई फैक्ट और इतिहास के बारे में बात करते हैं कि आखिरकार वाईफाई की शुरुआत कब हुई वाईफाई की स्थापना किसके द्वारा की गई वाईफाई का जनक कौन है और वाईफाई की सुविधा किस देश से शुरू हुई थी आदि और भी हाई फाई से संबंधित संपूर्ण फैक्ट के बारे में विस्तार से जानते हैं

Wifi क्या है :-

वाईफाई एक ऐसा डिवाइस होता है जो रेडियो तरंगों के रूप में लोगों को इंटरनेट प्रोवाइड करवाता है यह दुनिया का सबसे पुराना और फास्ट इंटरनेट माध्यम है वाईफाई की मदद से आप अपने मोबाइल और कंप्यूटर फोन में बिना किसी इंटरनेट कनेक्शन के भी कई गुना फास्ट इंटरनेट चला सकते हो और साथ ही बड़ी से बड़ी फाइलों को भी आसानी से डाउनलोड कर सकते हो वाईफाई एक छोटा सा उपकरण होता है

जो किसी निश्चिंत क्षेत्र में काम करता है साथ ही वाईफाई का एक ऐसा भी बेनिफिट होता है कि आप एक वाईफाई से कितने भी डिवाइस और मोबाइल को कनेक्ट करके आसानी से कई गुना ज्यादा और फास्ट इंटरनेट चला सकते हो जब वाईफाई की शुरुआत हुई थी तब वाईफाई बहुत ही धीमा चलता था

लेकिन अब वाईफाई के कई सारे अलग-अलग फास्ट वर्जन निकाल दिए गए हैं जिसकी वजह से लोगों को वाईफाई को फास्ट चलाने में काफी मदद मिलती है आजकल वाईफाई का इस्तेमाल हर उस ऑफिस, स्कूल ,कॉलेज और अस्पताल आदि जगह पर हो रहा है जहां पर इंटरनेट की आवश्यकता हो

Full Form of wifi :-

लोगों के द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले इस उपकरण के पूरे नाम को कई तरीकों के द्वारा सर्च किया जाता है वह लगभग प्रत्येक व्यक्ति को जो वाईफाई जैसे उपकरण का इस्तेमाल करता है उसको यह ललक लगी रहती है कि आखिर Full form of wifi क्या है : इसमें WI का मतलब तो wireless और fi का मतलब fidelity होता है

वाईफाई का इतिहास क्या है :-

वाईफाई के जन्म की शुरुआत तो आज के लगभग पांच से छह दशक पहले ही हो चुकी थी लेकिन वाईफाई के जन्म की जो शुरुआत है 1985 में हो गया था, लेकिन वाईफाई का अब भी सही जन्म नहीं हुआ था और इसमें बाद में भी काफी कुछ बदलाव किए गए थे और वाईफाई को 1997 तक दोबारा लाया गया था और यह सब होने के बाद यूनाइटेड स्टेट एफसीसी जिसका पूरा नाम (संघीय संचार आयोग) ने यह ऐलान किया कि IEEE (इंस्टीट्यूट इलेक्ट्रिकल इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर्स) 802.11 प्रोटोकॉल को बिना किसी लाइसेंस के कोई भी व्यक्ति इसका इस्तेमाल नहीं करता है और 1997 में इस प्रोटोकॉल के बाद वाईफाई का इतिहास (इतिहास) शुरू हो गया था

Wifi जनरेशन :-

जब पहली बार 1997 में वाईफाई के वर्जन 802.11 को प्रकाशित किया गया था तब इस वर्जन की गति 2 मेगाबाइट प्रति सेकंड थी लेकिन फिर बाद में और काफी कुछ इंप्रूवमेंट किया गया और बाद में इसमें बहुत कुछ बदलने के बाद इसको एक बार फिर से 1999 में नए रूप में प्रकाशित किया गया था पुराने सारे वाईफाई के मुकाबले 1999 मे आए इस वर्जन को कई गुना शक्तिशाली और फास्ट बनाया गया था और 1999 में इसका नाम बदलकर 802.11a कर दिया गया था इस वर्जन की गति पहले से लांच वर्जन के मुकाबले काफी ज्यादा और फास्ट थी 1999 में आए इस वर्जन की स्पीड 54 मेगाबाइट थी लेकिन इस वर्जन की सबसे बड़ी कमजोरी है यह थी की है वर्जन पहले से लांच वर्जन के मुकाबले काफी ज्यादा महंगा था जिसके कारण यह लोगों के बीच में ज्यादा लोकप्रिय नहीं हुआ लेकिन

इसके बाद इस वर्जन को और अपडेट किया गया था और इस पुराने वर्जन का अगला नया वर्जन निकाला गया इसके अगले वर्जन का नाम 802.11b था इस वर्जन को लोगों के लिए पहले वाले वर्जन के मुकाबले काफी गुना सस्ता रखा गया था वह इसकी स्पीड भी पहले वाले दोनों वर्जन के मुकाबले कई गुना ज्यादा हो गया था और बाद में देखते ही देखनेे वाईफाई का 802.11 b वर्जन कुछ ही समय में पूरी दुनिया में लोकप्रिय हो गया था

लेकिन इसके किसी भी वर्जन को बस हमेशा के लिए नहीं रखा गया बल्कि आज तक वाईफाई के जितने भी वर्जन लांच हो रहे हैं उनको और ज्यादा इंप्रूवमेंट किया जा रहा है इसके बाद फिर से एक बार इस वर्जन को 2003 में और पहले से ज्यादा बेहतर वर्जन बनाया गया था लेकिन अब भी इस वर्जन का नाम 802.11g था

generation of wifi :-

इस वर्जन के बाद इस वर्जन में 7 से 8 सालों तक काफी कुछ इंप्रूवमेंट किया गया था और इस वर्जन को पहले से और कई गुना ज्यादा बेहतर बनाने का प्रयास किया गया था और इसको इंप्रूवमेंट करने वाले लोगों को इस वर्जन को बेहतर बनाने में सफलता भी मिली थी और इसके बाद इस वर्जन को 2009 में पहली बार 802.11n नाम के रूप में फिर से लोगों के लिए प्रकाशित किया गया और इस बार यह वर्जन 802.11n पहले वाले सभी परिजनों से काफी ज्यादा बेहतर और सस्ता वर्जन था

जैसा कि मैंने आपको बताया कि कभी भी वाईफाई के किसी भी वर्जन को हमेशा के लिए टिकाऊ नहीं रखा गया और हमेशा इसके हर वर्जन को और पहले से ज्यादा एडवांस बनाने का काम चलता रहा और इसी तरह 2009 में लांच हुए वर्जन 802.11n और इंप्रूवमेंट किया गया और पूरे 5 साल बाद इस वर्जन को एक अलग ही रूप में लोगों के लिए पेश किया गया इसके दूसरे वर्जन 802.11ac को 2014 में एक बार फिर से काफी कुछ इंप्रूवमेंट के साथ लोगों के लिए प्रकाशित किया गया था

जिसमें वाईफाई का आविष्कार हुआ उस समय से लेकर आज तक वाईफाई को हमेशा बेहतर बनाने का प्रयास किया गया था और इसी प्रकार वाईफाई की शुरुआत होने के दो दशक बाद भी वाईफाई को और इंप्रूवमेंट किया गया और 2019 में आए वाईफाई के वर्जन 802.11% मानक को फिर से काफी कुछ बदलाव के साथ लोगों के लिए प्रकाशित किया गया

What is wifi full form :-

आज तक वाईफाई का इस्तेमाल तो कई सारे लोग करते हैं लेकिन अधिकतर लोग वाईफाई को इसके सही नाम से नहीं जानते हैं और ज्यादातर लोग बस यही जानते हैं की जिस इंटरनेट सर्विस का इस्तेमाल हम कर रहे हैं या जिस राउटर का इस्तेमाल कर रहे हैं इसको वाईफाई ही बोलते हैं लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है और वाई फाई का पूरा नाम what is wifi full form है Wireless fidelity यह इसका पूर्ण नाम है

wifi कैसे काम करता है:-

आज के इस आधुनिक युग में हर कार्य आधुनिक हो गया है और आजकल हमारे आसपास घरों, स्कूलों और कॉलेजों से लेकर और अनेक कई जगहों पर इंटरनेट से सारा काम होता है पहले के समय में लोगों को लंबे लंबे समय का रिकॉर्ड कई सारी पुस्तिकाओं में लिख कर रखना पड़ता था और यदि कभी किसी लिखे हुए रिकॉर्ड की जानकारी चाहिए होती थी तो उसको ढूंढने में भी काफी समय लग जाता था लेकिन आज के आधुनिक समय में कोई भी काम बस कुछ मिनटों में ही हो जाता है और आजकल पहले जैसे लिखकर रखने की जरूरत नहीं पड़ती है बल्कि सारा कार्य इंटरनेट पर ही हो जाता है किसी को भी कोई भी डाक पहुंचाने की भी जरूरत नहीं पड़ती है और सारा काम ऑनलाइन ही इंटरनेट के माध्यम से हो जाता है

wireless antenna :-

किसी भी व्यक्ति को वाईफाई का वाईफाई का इस्तेमाल करने के लिए अपने घर या ऑफिस में एक वायरलेस इंटरनेट कनेक्शन लगवाना पड़ता है जो एक छोटे से डिब्बे की तरह होता है और उस डिब्बे में से एक एंटीना निकलता है यह वाईफाई एंटीना होता है यह पूर्ण तरह से वायरलेस भी नहीं होता है यदि किसी व्यक्ति को अपने घर में वाईफाई एंटीना लगवाना होता है

तो उससे अपने घर या ऑफिस की छत पर एक छोटा सा एंटीना लगवाना पड़ता है और वह एंटीना वायर की मदद से नीचे ऑफिस में या घर में वाईफाई के छोटे से डिब्बे से कनेक्ट रहता है और जब उस डिब्बे को जिस को सही शब्दों में राउटर भी कहा जाता है तो जब राउटर को चालू किया जाता है तो वाईफाई ऑन हो जाता है और आप अपने कंप्यूटर और मोबाइल में इसका आसानी से इस्तेमाल कर सकते हो और कुछ भी डाटा डाउनलोड कर सकते हो

कोई भी व्यक्ति आसानी से वाईफाई कनेक्शन लेकर अपने घर या ऑफिस में वाईफाई की सेवा आसानी से शुरू कर सकता है

wifi full form in computer :-

विश्व के अधिकतर लोगों को किसी भी कंपनी या किसी उपकरण के सही नाम का पता नहीं होता है बल्कि वह लोग उस उपकरण को उसी नाम से ज्यादा जानते हैं जिस नाम से वह अपनी बोलचाल की भाषा में उसे बोलते हैं इसी प्रकार कुछ उपकरण ऐसे होते हैं जिनको अपने सही नाम से ज्यादा शॉर्ट नेम से ज्यादा जाना जाता है अब आप इसी तरह वाईफाई को ही देख लो वाईफाई का शॉर्ट नाम wifi full form in computer और वाई फाई का पूरा नाम wireless fidelity है

वाईफाई zone क्या है :-

दोस्तों आज के समय में टेक्नोलॉजी बहुत ही ज्यादा एडवांस हो गई है और अब पहले जैसा नहीं होता है पहले किसी व्यक्ति को बिना किसी इंटरनेट कनेक्शन के इंटरनेट चलाने के लिए वाईफाई का इस्तेमाल करना पड़ता था और यह बस एक निश्चिंत क्षेत्र में ही काम करता था लेकिन अब मोबाइल बनाने वाली कंपनियों ने वाईफाई जैसे उपकरण का पूरा सिस्टम अपने मोबाइल फोन में ही दे दिया है और अब किसी भी व्यक्ति को बिना किसी इंटरनेट कनेक्शन के भी इंटरनेट चलाने में कोई परेशानी नहीं होती है

वाईफाई जॉन का इस्तेमाल करने के लिए किसी भी व्यक्ति को अपने पास वाले व्यक्ति के मोबाइल से हॉटस्पॉट को ऑन करना होता है और अपने मोबाइल में वाईफाई को ऑन करना पड़ता है हॉटस्पॉट कनेक्शन को अपने मोबाइल से कनेक्ट करके कोई भी व्यक्ति आसानी से इंटरनेट का मजा उठा सकता है आपको किसी भी व्यक्ति को हॉटस्पॉट से इंटरनेट चलाने के लिए सामने वाले व्यक्ति जिसके मोबाइल से आप वाईफाई कनेक्ट करोगे उसके मोबाइल में इंटरनेट कनेक्शन या प्रीपेड बैलेंस होना जरूरी है तभी आप वाईफाई जॉन का इस्तेमाल कर सकते हो